Motivation

Way to success

Way to success

Way to success
Way to success


सफलता का रास्ता आपमेसे हर कोई खोजता है और हर कोई इस रास्ते पे चल कर सफलता प्राप्त करना चाहता है। आज इस आर्टिकल में आपके साथ मैं एक कहानी शेयर करने वालाहु जिसको पढ़कर आपको भी शायद आपका सफलता का रास्ता मिल जाए तो चलिए स्टार्ट करते है।

ये कहानी 2 दोस्तों की है एक का नाम है राकेश और दूसरे का नाम है रवि ये दोनों बोहोत ही अच्छे दोस्त थे। लेकिन उन दोनों मेसे राकेश बोहोत ही होशियार था और वो स्कूल में भी बोहोत ही मेहनत करता था और अच्छे मार्कस लाता था और वही दूसरी तरफ रवि पढ़ाई में उतना ज्यादा अच्छा नही था और स्कूल में भी उसके हंमेशा कम मार्कस आते थे।

India's biggest deal of 54000 crores | Ratna Tata | Motivational Blog

जब धीरे धीरे समय गुज़रा तो राकेश अपनी लाइफ में बोहोत सक्सेसफुल हुआ उसने बोहोत ही तरक्की की और अब उसके पास गाड़ी, बंगला और वो सबकुछ था जिसका कभी उन दोनों ने सपना देखा था।

वही दूसरी और रवि की लाइफ ऐसी नही थी और बोहोत ज़्यादा तरक्की भी नही कर पाया था। वो हंमेशा अपने दोस्त राकेश की तरक्की को देखता और सोचता कि मेरा दोस्त ऐसा क्या करता है जोकि आज वो इतना सक्सेसफुल इंसान है। एक दिन रवि ने फैसला किया कि वो उसके दोस्त राकेश से उसकी सफलता का राज़ ज़रूर पूछेगा।

एक दिन रवि फ्री बैठा था तो उसने उसके दोस्त राकेश को फ़ोन किया और उससे पूछा कि वो आखिर ऐसा क्या करता है जो कि उसको इतनी सक्सेस मिली तब राकेश ने उसे एक नहर के पास बुलाया और कहा कि कल सुबह नहर पे आजाए वही पे वो उसकी सफलता का राज़ बताएगा।

अब फ़ोन में बात करने के बाद रवि पूरी रात सो नही पाया और पूरी रात सोचता रहा कि आखिर ऐसा भी क्या राज़ है जो राकेश नहर पे आकर बताएगा।

अगली सुबह वो नहर पे आया तो वहा पे राकेश पहले से ही उसका इंतजार कर रहा था। फिर राकेश ने कहा कि मै तुम्हे मेरी सफलता का राज़ बताऊ उससे पहले हमें ये नहर साथ में पार करनी होगी। रवि ने कहा ठीक है और दोनों पानिमे उत्तर गए। दोनों धीरे धीरे आगे बढ़ रहे थे और जैसे आगे जाते वैसे ही पानी की गहराई ज़्यादा होती जाती। जब पानी गले तक आया तो राकेश ने रवि का सर पकड़ कर उसे पानी मे डुबो दिया रवि पानीके अंदर तड़पने लगा और जटपटाने लगा फिर थोड़ी देर बाद रवि ने पूरा जोर लगा कर राकेश के हाथों को धक्का दिया और पानी से बाहर आ गया। फिर उसने राकेश से पूछा कि उसने ऐसा क्यों किया तब राकेश ने कहा में इसका जवाब दूंगा लेकिन पहले मेरे सवाल का जवाब दो की जब तुम पानी मे दुब रहे थे तब तुम्हारे दिमाग मे क्या आया। तब रवि बोला कि तब मेरे दिमाग मे सिर्फ एक बात ही आयी कि मुजे सास लेनी है और मै अपना पूरा जोर लगाके बाहर आगया। तभी राकेश ने कहा कि मेरी सफलता का राज़ यही है।

जब तुम सास लेनेके लिए इतने पागल हो गए कि मेरे हाथ को धक्का देकर बाहर निकल आए उसी तरह तुम सफलता के पीछे इतने पागल हो जाओ की अगर तुम्हारे रास्ते मे कितनी भी कठिनाई आए कोई भी तूफान आए वो तुम्हे रोक ना सके। बस तुम अपने रास्ते पे चलते रहो फिर दुनिया की कोई भी ताकत तुम्हे रोक नही सकती।

About Mensutrapro

0 comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.