Motivation

How to build confidence

How to build confidence

How to build confidence
How to build confidence

confidence ये वो अवस्था है जिसे हरकोई पाना चाहता है। confidence क्या है और ये कहासे आता है? और ये किसी इंसान में कम किसीमें ज़्यादा क्यों होता है।

हम कैसे अपने confidence को बढ़ा सकते है।

यही सब जानकारी देने के लिए आज में ये ब्लॉग बना रहा हु। तो आइए जानते है confidence के बारे में।

Gujarat Forest Department Recruitment for 334 Forest Guard

confidence क्या है? जब इंसान ये मंटा है कि जीवनके संघर्ष उसको दुर्बल बनाते है तो उसे अपने आप पर विश्वास नही रहता वो उन संघर्ष के पार जानेके बजाए संघर्ष से छुटनेके उपाय ढूंढता रहता है। पर जब वो येजानता है कि जीवनके संघर्ष उसे और भी शक्तिशाली बनाते है। ठीक जैसे कसरत करनेसे शरीर की शक्ति बढ़ती है। तो हर एक संघर्ष के साथ उसका उत्साह बढ़ता है।

confidence और कुछभी नही मनकी स्थिति है। जीवनको देखनेका नज़रिया मात्र है। और जीवनका नज़रिया तो इंसान के अपने हाथ मे होता है ना। स्वयं विचार कीजिये।

जैसे सारे इंसान का स्वभाव अलग अलग होता है वैसे ही सभी इंसान में confidence का स्तर भी अलग अलग होता है।

 किसी इंसान में confidence बिलकुल नही होता किसीमें ज़्यादा होता है और किसीमें बोहोत ज़्यादा भी होता है जिसे हम over confidence भी कहते है।

Motivation For Bloggers

जब किसी इंसान में आत्मविश्वास की कमी होती है तो उसका परिणाम सुखद और आनंद दायीं नही होता।

जीवन में आनेवाले संघर्ष के लिए जब इंसान खुदको योग्य नही मानता जब उसे अपने ही बल पर विश्वास नही रहता त्तब वो सद्गुणोंको त्याग कर दुर्गुणोको अपना त है। वस्तुतः इंसान के अंदर दुर्जनता जन्म ही तब लेती है जब उसके अंतर मैं आत्मविश्वास नही होता। आत्मविश्वास ही अच्छाई को धारण करता है।

हम अपने जीवन मे confidence को कैसे बढ़ा सकते है। ऐसा हैम अपनी कुछ आदत को बदल कर भी कर सकते है।

जब हम जुठ बोलते है तो हमे एक भय रहता है सदा ऑर वो भय सच के सामने आजानेका होता है क्योकि ये हमारे मन का स्वभाव है और जब इंसान जुठ बोलना प्रारम्भ करता है तो उसके अंदर भय जन्म लेता है और जहापे भय जन्म लेता है वहापे confidence  नही रहता हैं क्योको confidence वही रहता है जहाँ पे भय नही रहता। तो अगर आपको confident रहना है तो जुठ से दूर रहिये हो सके उतना कम जुठ बोलिये।

आप अपना mindset यानी किसीभी situation को देखनेका तरीका बदलिए जब भी आप के सामने कोई मुश्किल आजाए तो उस मुश्किल को बड़ा मत बनाइये क्योकि जितना बड़ा आप उसे समजेंगे उतनीही बड़ी वो मुश्किल आपकेलिये हो जाएगी। हमेशा खुदपे भरोसा रखिये की आप इस मुश्किल को बोहोत ही आसानीसे solv कर सकते हो और कोई भी मुश्किल आपके इरादों से ज़्यादा बड़ी नही है। अगर आप इस mindset से उस मुश्किल को देखेंगे तो आप पाएगे की आपकी जो भी problem थी उसको सॉल्व करनेकी हिम्मत आपमे automatic आजाएगी यानी सिर्फ नज़रिये का खेल है

Confidence is better than perfection because, Perfection means doing the best but... Confidence means knowing how to handle the worst…

अगर आप इस कहावत को देखे तो इसमें कहा गया है कि confidance यानी आत्मविश्वास perfection से अच्छा है क्योंकि perfection का मतलब होता है कि अच्छा करना जब कि confidence का मतलब है किसी बिगड़े हुए काम को अपने confidence से हैंडल कर पाना।

 दोस्तो आपने देखा होगा कि जो इंसान confident रहते है वो उनका काम ज़्यादा आसानी से करते है और ऐसा नही है कि वो सिफत अपना काम ही आसानी से करते है उनको आप कोई भी काम देदो वो हर काम उसी आसानी से करदेते है। तो क्या उनको कभी कोई परेशानी या problems नही आते! ऐसा नही है प्रोब्लेम्स और परेशानी तो सबको आतीहै पर उसको सही ढंग से हैंडल करनेकी ability को ही हम confidence कहते है।

बस ज़रूरत है तो सिर्फ खुदपे अपार विश्वास की फिर आप व ,क़ब्ब्ब्ब्सबफव्वBजो भी चाहो वो achive कर पाओगे। खुदपे विश्वास रखो और सोचो की कोई काम मुश्किल नही है सबकुछ बोहोत ही आसान है कोई भी मुश्किल तुमसे बड़ी नही है कभी भी किसीभी problem को खुदसे बड़ा ना होनेदो बस खुदपे विश्वास रखो और आगे बढ़ो।

लाइफ में हम सब ने अपने कोई न कोई rules बनाये होंगे पर जब हम कोई काम करनेके लिए सब कुछ भूल जाते है और अपने rules की भी धज्जिया उड़ा देते है। वो आने काम को पूरा करनेके लिए गलत काम करनेसे भी नही हिचखीचाते लेकिन ऐसा करनेसे हमे अंदर से cheap महसूस होता है हम खुदसेही नज़रे नही मिला पाते और ये सब बातें हमारे confidence को कम करती है पर उसके उलट अगर हम अपने बनाये rules पर चलके वो काम पूरा करेतो! भलेही जुसमे कितनिभि परेशानी क्यों न आए लेकिन फिर भी हमे हमेशा एक खुशी महसूस होगी और हमेशा confident रहेंगे।

confidence को बढानेके एक और तरीका भी है अब मैं लीजिये की आप एक job interview के लिए जा रहेहो और आपको confidence को बढ़ाना है तो आप को खुदसे ये बोलना होगा कि में confident हु में जैसा हु में perfect fit रहूंगा company के लिए और मुजे ये जॉब मिल जाएगी बस यही mindset लेकर आप interview में जाइये और यकीन मानिए ये चीज़ बोहोत काम करेगी।

अपनी छोटी छोटी जीत को celebrate कीजिये भलेही वो हररोज़ सुबह जल्दी उठकर gym जाना क्यों न हो।  जिहा अगर आप अपनी इन छोटी छोटी जीत में खुश होके उसे बड़ी बनाके celebrate करेंगे तो आप अपनी लाइफ में आनेवाले  हर एक काम के लिए हमेशा confident रहेंगे

आप अपने comfort zone से बाहर निकलिए जिहा ये कहना बोहोत ही आसान है पर करना उतनाही मुश्किल है लेकिन अगर आप हमेशा अपने comfort zone में ही रहेंगे तो आप कभी अपनी ताकत को improov नही कर पाएंगे क्योकि अगर आप अपने comfort zone में ही रहेंगे तो आपको पताही नही चल पाएगा कि आप इस zone से बाहर निकलकर कैसा काम करेंगे। इस लिए अपने comfort zone से बाहर निकलिए और हमेशा आगे बढिए।

तो दोस्तो ये जो ब्लॉग मेने लिखा है ये सब मेने बोहोत सी किताबे पढ़के और कुछ अपनी खुद की life से सिख के लिखा है और वो कहते है ना कि लाइफ से बड़ा टीचर और कोई नही होता तो दोस्तो ये मेरी छोटीसी कोशिश है उन दोस्तो के लिए जो अपनी life में थोड़ा ज़्यादा confident होना चाहते है वैसे हम confidence को बढ़ा या घटा नही सकते क्योंकि ये तो आपकी मन की स्थिति होती है confidence तो life को देखनेका नज़रिया भर ही होता है।

अगर आपको मेरा ये ब्लॉग पसंद आया तो नीचे comment box में comment ज़रूर करे क्योकि आपकी हर comment हमारे लिए जरूरी है।

About Mensutrapro

0 comments:

Post a Comment

Powered by Blogger.